PM मोदी ने कहा- सरकार देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने को कृत संकल्पMonday, December 25, 2017-3:05 PM
  • नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि देश नीति के आधार पर चलता है, किसी की मर्जी से नहीं और उनकी सरकार ‘विकासोन्मुख सुशासन’ के मंत्र के साथ देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने को कृत संकल्प है।

    दिल्ली मेट्रो की 12 किमी लंबी मेजेंटा लाइन का उद्घाटन करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश में एक भी विषय ऐसा नहीं होगा जिसपर राजनीतिक रंग न लगा हो । इसलिये कभी कभी विकास के उत्तम कार्य भी हमेशा जनहित के तराजू में तौलने की बजाए राजनीतिक हितों के तराजू पर तौले जाते हैं।

    उन्होंने सवाल किया कि क्या राजनीतिक लाभ हो, तभी काम करना चाहिए ? राजनीतिक लाभ नहीं हो तब क्या देश को अधर में लटकने देना चाहिए ? मोदी ने कहा कि और इसलिये देश ने एक ऐसी सरकार चुनी है जो नीति पर चलती है, साफ नीयत से काम करना जानती है और आम लोगों की जिंदगी में बदलाव लाने की नीयत से काम करना करना चाहती है । हमारे सारे कार्य आम लोगों की जिंदगी में बदलाव लाने वाले हैं ।

    गुजरात में भाजपा की नई सरकार का कल शपथ समारोह, गांधीनगर में हो रही हैं तैयारियां

    उन्होंने कहा कि हमारे देश में हम कभी यह कहते हैं कि छोड़ो यार, ऐसे ही चलेगा । कभी कहते हैं कि हम तो गरीब देश हैं। कोई काम कराने जाओ.. तब पूछा जाता है कि मेरा क्या और उसकी स्वार्थ सिद्धि नहीं हुई तब वह कहेगा कि तुम जानो, तुम्हारा काम जाने।

    ‘मेरा क्या, मुझे क्या। इस स्थिति को देश ने बर्बाद कर दिया है लेकिन मैंने भी इसे बदलने का बीड़ा उठाया है।’ कांग्रेस पर परोक्ष निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि यह देश समृद्ध और सम्पन्न देश है लेकिन देश की जनता को उस सम्पन्नता और समृद्धि से अलग रखा गया।

    प्रधानमंत्री ने कहा कि इसलिये बारीकियों में देखा जाए तो ध्यान यह आता है कि समस्याओं की जड़ में एक महत्वपूर्ण कारण शासन व्यवस्था है । हमारी सरकार आने के बाद हम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जीवन की तपस्या से प्रेरणा लेते हुए सुशाासन के साथ देश को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने को कृत संकल्प हैं ।

    उन्होंने कहा कि यह देश नीति के आधार पर चलता है, किसी की मर्जी के आधार पर नहीं। और नीतियां लिखित में होती हैं । हम इस देश को अटल बिहारी वाजपेयी के सुशासन के सपने के आधार पर आगे बढ़ा रहे हैं। ‘हम सबका साथ, सबका विकास के मंत्र को लेकर आगे बढ़ रहे हैं। हम विकासोन्मुख सुशासन को आगे लेकर बढ़ रहे हैं।’

    त्योहारों के दौरान यात्राओं पर महंगाई की मार ! रेलवे वसूलेगा ज्यादा किराया

     इससे पहले पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा,  अपने पहले ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा 'NCR के दोस्तों के लिए एक अच्छी खबर, कल नई मेजेंटा लाइन के एक खंड का उद्घाटन किया जाएगा। आपको बता दें कि आज दी के दिन दिल्ली मेट्रों को भी पूरे 15 साल हो गए है। इसकी शुरुआत 25 दिसंबर, 2002 को हुई थी जब शाहदरा से तीस हजारी के बीच 8.5 किलोमीटर के रास्ते का उद्घाटन हुआ था।

    क्यों खास है मेजेंटा लाइन

    फेज तीन के मेजेंटा लाइन पर बॉटेनिकल गार्डन-कालकाजी मेट्रो रूट कई मायनों में अलग और महत्वपूर्ण है। इस रूट पर पहली बार कई नई तकनीक इस्तेमाल की जा रही है। ट्रेनों के संचालन के लिए पहली बार प्लेटफार्म स्क्रीन डोर्स (पीएसडी) और उच्च तकनीक वाली सिग्नलिंग प्रणाली का इस्तेमाल होगा।

    डीएमआरसी के मुख्य प्रवक्ता अनुज दयाल के अनुसार इस लाइन के हिस्से में कई ऐसी खूबियां हैं जिनका इस्तेमाल मेट्रो पहली बार कर रहा है। पीएसडी शीशे की बनी स्क्रीन, जिसे प्लेटफार्म के किनारे लगाया गया है, जो तभी खुलती है जब ट्रेन स्टेशन पर आती है और ट्रेन के स्टेशन से रवाना होते ही ये दरवाजे फिर बंद हो जाते हैं। इससे प्लेटफार्म पर टे्रन आगमन के दौरान ट्रैक पर होनेवाली घटनाओं पर रोक लगेगी।

    हाफिज सईद फिर रच रहा है आंतकी साजिश, पठानकोट जैसा हमला दोहराने की कोशिश

    कोरीडोर की विशेषताएं

    तीसरे फेज के 12.64 कि.मी. लंबे बॉटेनिकल गार्डन-कालकाजी मंदिर (मेजेंटा लाइन) रूट पर 9 स्टेशन हैं और यह जनकपुरी वेस्ट-बॉटेनिकल गार्डन कोरीडोर के 38.23 कि.मी.का हिस्सा है। 
    ये देश का पहला कोरीडोर जिस पर संचार आधारित ट्रेन नियंत्रण (सीबीटीसी) सिग्नलिंग तकनीक से चलेगी।
    यट्रेन  90 से 100 सेकेंड के अंतराल पर चलेगी
    यपर्यटन की दृष्टिकोण से भी यह रूट काफी महत्वपूर्ण है। इस रूट पर लोटस टेम्पल, कालकाजी मंदिर, नोएडा में ओखला पक्षी अभयारण्य और बॉटेनिकल गार्डन स्थित है।
    यइस रूट पर दो बड़े शैक्षिक संस्थानों तक जाने के लिए छात्रों को आने जाने में काफी आसानी होगी। इस रूट पर जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय और नोएडा का एमिटी विश्वविद्यालय भी है। 
    यइसके अलावा फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट है। 
    यइस रूट पर नौ स्टेशन क्रमश: बॉटेनिकल गार्डन, ओखला पक्षी अभयारण्य, कालिंदी कुंज, जसोला विहार शाहीन बाग, जामिया मिलिया इस्लामिया, ओखला विहार, सुखदेव विहार, ओखला एनएसआईसी और कालकाजी मंदिर।

    Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

Latest News