हाई एजुकेशन हासिल करने में लड़कियां हुईं आगे, इन राज्यों में बढ़ा अांकड़ाSaturday, January 6, 2018-2:20 PM
  • नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश की साक्षरता दर में उतार-चढ़ाव तो आते ही रहे हैं, लेकिन इसकी स्थिति हमेशा चिंताजनक रही है। अगर बात उच्च शिक्षा की हो तो यह मुद्दा और गंभीर हो जाता है मगर इस बार केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सर्वे ने एक उम्मीद जगाई है।

    पिछले 7 वर्षों में बढ़ा महिलाओं की उच्च शिक्षा हासिल करने का आंकड़ा

    ऑल इंडिया हायर एजुकेशन सर्वे के अनुसार, अब उच्च शिक्षा हासिल करने में छात्राओं की संख्या बढ़ी है। यह सर्वे एचआरडी मंत्रालय के मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को जारी किया। इसके अनुसार जेंडर पैरिटी इंडेक्स (जीपीआई) में पिछले सात सालों में देश में सुधार हुआ है। 2010-11 में जीपीआई 0.86 था जो 2016-17 में बढ़कर 0.94 हो गया है।

    मोदी सरकार के दावों पर खड़े हो रहे सवाल, आधार जरूरी फिर भी सुरक्षित नहीं जानकारी!

    जम्मू-कश्मीर समेत इन राज्यों में हुई बढ़ोतरी

    ये आंकड़े दिखाते हैं कि कम से कम 7 राज्यों में तो महिलाओं ने पुरुषों को उच्च शिक्षा हासिल करने के मामले में पीछे छोड़ दिया है। जिसमें जम्मू-कश्मीर के साथ गोवा, हिमाचल प्रदेश, मेघालय, नागालैंड, सिक्किम और केरल भी शामिल हैं। हालांकि पिछले दो सालों में उच्च शिक्षा हासिल करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी नहीं हुई है और यह आंकड़ा 23-25 फीसदी तक ही रहा। 

    जानें वर्चुअल करेंसी 'बिटकॉइन' की कैसे होती है माइनिंग

    तमिलनाडु सबसे आगे

    लड़कियों द्वारा उच्च शिक्षा हासिल के मामले में तमिलनाडु सबसे आगे है। हिमाचल प्रदेश 36.7 फीसदी, केरल में 34.2 फीसदी, पंजाब में 28.6 फीसदी और तमिलनाडु में 46.9 फीसदी, आंध्र प्रदेश में 32.4 फीसदी व हरियाणा में 29 फीसदी छात्र उच्च शिक्षा हासिल करने में आगे बढ़े हैं।

    ये राज्य अब भी पीछे

    हालांकि बिहार समेत 8 राज्यों में उच्च शिक्षा हासिल करने का अनुपात कम औसत से भी कम रहा है। उत्तर प्रदेश में 24.9 फीसदी, मध्य प्रदेश में 20 फीसदी, ओडिशा में 21 फीसदी, बिहार में 14 फीसदी, गुजरात में 20.2 फीसदी, राजस्थान में 20.5 फीसदी, मिजोरम में 24.5 फीसदी, पश्चिम बंगाल में 18.5 फीसदी है। बिहार में यह आंकड़ा सबेस कम रहा।

    विश्वविद्यालयों की बढ़ी तादाद

    सर्वेक्षण के मुताबिक, पिछले वर्ष 864 विश्वविद्यालय थे जो 2015-16 में 799 थे। इन तमाम यूनिवर्सिटी में कुल 3.57 करोड़ छात्र हैं, जिसमे 1.9 करोड़ लड़के वह 1.67 करोड़ लड़कियां हैं। तकरीबन 80 फीसदी छात्र यानि 2.83 छात्र ग्रेजुएट कोर्ट में हैं, 40 लाख यानि 11.2 फीसदी छात्र पोस्ट ग्रेजुएट में हैं, वहीं पीएचडी के लिए 0.4 फीसदी छात्र हैं।

    Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

Latest News