दयाल सिंह कॉलेज का नाम बदलने के फैसले पर रोकTuesday, December 19, 2017-8:04 PM
  • नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज कहा कि दयाल सिंह कॉलेज का नाम बदलने का फैसला सरकार का फैसला नहीं है और इस पर फिलहाल रोक लगा दी गई है।जावड़ेकर ने यह बात शून्यकाल में तब कही जब शिरोमणि अकाली दल के सदस्य नरेश गुजराल ने यह मुद्दा उठाया। गुजराल ने सरकार से तत्काल हस्तक्षेप की मांग करते हुए कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि दयाल सिंह कॉलेज की प्रबंधन समिति ने इस सांध्यकालीन कॉलेज का नाम बदल कर वंदेमातरम महाविद्यालय रखने का फैसला किया है।

    'रामलला' को ठंड से बचाने के लिए VHP ने मांगे ऊनी कपड़े-कंबल और हीटर

    उन्होंने कहा मैं मानता हूं कि वंदे मातरम कहने से हर भारतीय के मन में देशभक्ति की भावना बलवती हो जाती है। सरकार को पूरे देश में वंदेमातरम विश्वविद्यालयों की स्थापना करना चाहिए लेकिन किसी संस्थान के नाम को नहीं बदलना चाहिए।

    गुजराल ने कहा अल्पसंख्यक संस्थान का नाम बदलने से सिखों की भावनाएं आहत हुई हैं। मेरे विचार से इसकी निंदा की जानी चाहिए। इस मुद्दे पर सरकार से तत्काल हस्तक्षेप की मांग करते हुए गुजराल ने कहा कि प्रबंधन समिति को तत्काल बदला जाना चाहिए।

    विभिन्न दलों के सदस्यों ने इस मुद्दे से स्वयं को संबद्ध किया। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कॉलेज का नाम बदलने का फैसला केंद्र सरकार का फैसला नहीं था।

    MLA ने बोला जवानों को अपशब्द, SP ने मंच पर ही करवाया चुप

    उन्होंने कहा यह सरकार का फैसला नहीं है और न ही यह सरकार को पसंद है। इसलिए हमने फैसले पर फिलहाल रोक लगाने और शीघ्र ही एक बैठक बुलाने को कहा है। यह हमें पसंद नहीं है और इस तरह से नहीं होगा।

    जावड़ेकर ने यह भी बताया कि दयाल सिंह कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय से संबद्ध है और विश्वविद्यालय को इस बारे में बता दिया गया है। उन्होंने कहा कि भावनाओं से खिलवाड़ कर अनावश्यक विवाद पैदा करना गलत है।

    गुजराल ने कहा था कि परमार्थ कार्यों से जुडे़ दयाल सिंह मजीठिया ने अपना पूरा जीवन और अपनी जमा पूंजी शिक्षा में लगाई और कई स्कूल कॉलेज स्थापित किए। ज्ञात हो कि लाहौर में भी एक दयाल सिंह कॉलेज है।


     

    Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

Latest News