मेदांता: डेंगू के इलाज का 18.88 लाख का थमाया बिल, इलाज के लिए घर रखा था गिरवीThursday, December 14, 2017-1:59 PM
  • नई दिल्ली/टीम डिजिटल। गुड़गांव में फोर्टिस अस्पताल का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि बहुचर्चित अस्पताल मेदांता पर डेंगू पीड़ित बच्चे के इलाज में भारी भरकम बिल पकड़ाने का मामला सामने आया है। हैरानी की बात तो यह है कि बच्चे के पिता ने अपना घर गिरवी रख कर बच्चे का उपचार कराने के बाद भी उसका बच्चा आज उसके साथ नहीं है।

    गुजरात : वोट डालने के बाद पीएम मोदी को देखने उमड़ी भीड़, रोड शो जैसा दिखा नजारा

    धौलपुर राजस्थान निवासी गोपेंद्र सिंह का आरोप है कि उसने अपने बेटे 7 वर्षीय शौर्य को डेंगू होने पर पहले धौलपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया था जहां प्लेटलेट चढ़ाने की व्यवस्था न होने पर उसे गुड़गांव के मेदांता अस्पताल लेकर आया। यहां 22 (29 अक्तूबर से 15 नवम्बर तक) दिनों तक उसका उपचार चला और डॉक्टरों ने उसे 18.88 लाख रुपए का बिल पकड़ा दिया।

    प्रद्युम्न हत्याकांड केस: सीबीआई ले सकेगी आरोपी छात्र का फिंगर प्रिंट

    पिता का आरोप है कि उसने जैसे-तैसे करके अपना घर गिरवी रख कर अस्पताल का बिल चुकता किया बाद में उसने अस्पताल के बढ़ते बिल को देखते हुए राम मनोहर लोहिया अस्पताल में बच्चे को दाखिल करवाया जहां उपचार के दौरान मौत हो गई बच्चे के पिता ने कहा कि वह न्याय के लिए जल्दी ही स्वास्थ्य विभाग को शिकायत करेगा।

    Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

Latest News