निजी अस्पताल में डिलीवरी के वक्त हुई बच्चे की मौत, परिजनों ने किया जमकर हंगामाTuesday, December 26, 2017-11:12 AM
  • नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। रविवार की रात पलवल में जिला नागरिक अस्पताल के नजदीक एक निजी हॉस्पिटल में डिलीवरी के वक्त बच्चे की मौत हो गई। जिसके बाद परिवार वालों ने महिला डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। वहीं, इस बारे में जैसे ही सूचना पुलिस को पहुंची तो उन्होंने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल में भेज दिया। फिलहाल इस मामले में पुलिस ने अस्पताल संचालक दंपती के खिलाफ मामला दर्ज कर अपनी जांच शुरू कर दी है। 

    अब डेढ़ घंटे में नहीं 40 मिनट में फरीदाबाद से नोएडा पहुंच सकेंगे यात्री

    इस मामले में शहर थाना प्रभारी अश्विनी कुमार के मुताबिक हथीन उपमंडल के कोंडल गांव के रहने वाले सुरेंद्र ने सोमवरा को थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें यह बताया गया कि रविवार देर रात को  24 वर्षीय पत्नी निशा को डिलीवरी के लिए पलवल के जिला नागरिक अस्पताल लेकर आए थे। जहां से डॉक्टर ने उसे रेफर कर दिया जिसके बाद एक निजी अस्पताल में निशा को ले जाया गया। 

    फिर से बदमाशों का दिखा रोब, कांग्रेसी विधायक को दी जाने से मारने की धमकी

     वहां मौजूद महिला डॉक्टर निधि ने निशा को भर्ती करने के दौरान सबकुछ सामान्य होने की बात कही है। प्रसूति बिना ऑपरेशन के हो जाएगी।  सुरेंद्र की माने तो  थोड़ी देर बाद उन्हें यह पता चला कि प्रसूति के दौरान अधिक वैक्यूम प्रेशर इस्तेमाल हुआ होने के चलते उनके बच्चे का सिर फंस गया है। इस पर डॉक्टरों ने जल्दबाजी में प्रसूति के लिए ऑपरेशन कर दिया। इस दौरान की गई लापरवाही के चलते बच्चे की मौत हो गई। सुरेंद्र ने आरोप लगाया कि अस्पताल में पर्याप्त सुविधा न होने के चलते उनके बच्चे की जान गई है।

    Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

Latest News