JNU छात्र नजीब मााले मेंं दिल्ली हाई कोर्ट ने CBI से मांगी फोरेंसिक डेटा रिपोर्ट Thursday, December 21, 2017-4:58 PM
  • नई दिल्ली/टीम डिजिटल। JNU के लापता हुए छात्र नजीब अहमद के मामले में आज दिल्ली हाई कोर्ट में सीबीआई ने बंद लिफाफे में अब तक की स्टेटस रिपोर्ट पेश की। कोर्ट में सीबीआई ने माना कि रैड में बरामद किए गए मोबाइल की डेटा रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। 

    टू जी केस में अदालती फैसले पर सुब्रमण्यम स्वामी बोले- उम्मीद है पीएम मोदी लेंगे सबक 

    इस पर हाई कोर्ट ने CBI को फटकारते हुए जल्द से जल्द मोबाइल की फोरेंसिक डेटा रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया। इसके साथ ही मामले की अगली सुनवाई 27 फरवरी 2018 तक के लिए टाल दी गई। 

    2G घोटाले में अदालती फैसले पर अन्ना हजारे ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

    बता दें कि JNU से M.Sc. कर रहा नजीब अहमद 15 अक्टूबर 2016 से यूनिवर्सिटी परिसर से गायब है। तमाम प्रयासों के बावजूद अभी तक उसका कुछ भी अता-पता नहीं चल सका है। लापता होने से पहले नजीब की अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्यों ने मारपीट की थी। 

    सचिन तेंदुलकर को संसद में नहीं बोलने पर कांग्रेस पर जमकर बरसीं जया बच्चन

    हालांकि ABVP से जुड़े छात्रों ने साफ कह दिया है कि नजीब के गुम होने में उनका कोई हाथ नहीं है। नजीब के गायब होने को लेकर उसकी मां फातिमा नफीस और जेएनयू छात्रों ने सीबीआई मुख्यालय के बाहर विरोध-प्रदर्शन भी किया था। 

    Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

Latest News