नाबालिग रेप पीड़िता के मेडिकल के लिए रातभर भटकते रहे पीड़ित परिजन Saturday, December 30, 2017-5:16 PM
  • नई दिल्ली/ब्यूरो। व्यवस्था की अकर्मण्यता कितनी कष्ठदायी होती है इसको केवल एक पीड़ित ही बयां कर सकता है। व्यवस्था की कुछ ऐसी ही अकर्मण्यता का सामना छोलस की मडैय़ा गांव की रेप पीड़िता और उसके परिजनों को उस वक्त करना पड़ा, जब बच्ची के मेडिकल के लिए उन्हें रातभर दादरी से नोएडा और भंगेल के सरकारी अस्पतालों में भटकना पड़ा। आधी रात को उच्च अधिकारियों और समाज के प्रभावशाली लोगों के हस्तक्षेप के बाद पीड़िता का मेडिकल हो सका, जिसके बाद पीड़ित परिवार बच्ची को लेकर शुक्रवार तड़के 4 बजे घर पहुंचे।

    पड़ोसी ने किया 8 साल की बच्ची के साथ रेप, पुलिस हिरासत में आरोपी

    स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों को मीडिया से मामले की जानकारी हुई। उन्होंने तुरन्त मामले की जांच के आदेश दे दिए। विभागीय अधिकारी जांच के बाद जिम्मेवार लोगों के खिलाफ  कड़ी कार्रवाई की बात कह रहे हैं। वहीं पुलिस ने भी आरोपी नाबालिग को बाल सुधार गृह भेज दिया है।

    जारचा कोतवाली क्षेत्र के छौलस की मंडैय़ा गांव में वीरवार देर शाम एक नाबालिग पड़ोस में ही रहने वाली 8 साल की मासूम नाबालिग को बहला फुसलाकर सूनसाल स्थान पर ले गया और रेप की वारदात को अंजाम दिया। वारदात के बाद आरोपी बच्ची को मौके पर ही छोड़कर फ रार हो गया। परिजनों को बच्ची लहूलुहान हालत में पड़ी मिली। पूछने पर बच्ची ने परिजनों को सारी घटना के बारे में बता दिया। लिखित तहरीर पर पुलिस कार्रवाई करते हुए आरोपी नाबालिग को पकड़ लिया और पीड़ित बच्ची को मेडिकल के लिए अस्पताल भेज दिया।

    परिजन बच्ची को लेकर 8:30 बजे दादरी सरकारी अस्पताल पहुंचे। वहां चिकित्सकों ने सुविधाओं के अभाव में मेडिकल से इंकार कर नोएडा स्थित जिला अस्पताल के लिए रेफ र कर दिया। जिला अस्पताल पहुंचने पर चिकित्सकों ने पीड़िता और परिजनों को भंगेल स्थित अस्पताल जाकर मेडिकल कराने की सलाह दी। अन्त में पीड़िता, परिजन और पुलिस टीम के सदस्य रात भंगेल स्थित सरकारी अस्पताल पहुंचे। यहां भी उन्हें निराशा ही हाथ लगी।

    5 बार कराया गर्भपात, अब दे रहा जान से मारने की धमकी

    यहां पर मौजूद अस्पताल स्टाफ  ने उनसे वापस नोएडा स्थित सरकारी अस्पताल जाने के लिए कहा। इसके बाद समाज के प्रभावशाली लोगों व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में मामला आने पर जिला अस्पताल में पीड़िता का मेडिकल हो सका। 

    Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

Latest News